सूजी के लड़ूँ




सूजी से हम सामान्य तौर पर हलवा बनाते है , जो instant sweet dish है , लेकिन लड्डू हम बहुत दिनों तक स्टोर कर के रख सकते है ,बनाने मै  आसान और टेस्ट मै स्वादिस्ट।

मालवा मै सामान्य तौर पर इन्हे चूरमा लड्डू कहा जाता है जो दाल बाटी या दाल बाफले के साथ बनाये जाते है। कई तरीको से बनाये जाते है,मै  अपनी मम्मी की विधि शेयर कर रही हूँ।

आवश्यक सामग्री 

  • सूजी 1 कप 
  • शक्कर बुरा 1 कप 
  • घी तलने  के लिए व् डालने के लिए 2 कप 
  • इलाचयी पाउडर
  • ड्राई फ्रूट 
  • गरम पानी 1 /4 कप
                                      

बनाने की विधि 

सूजी मै दो छोटे चम्मच घी डाल  कर अच्छी तरह मिक्स कर ले ,गरम पानी से कड़ा गूँथ ले ,आधा घंटे तक गुंथी सूजी को ढक कर रख दे। 

आधे घंटे बाद सूजी के गोले बना कर उँगलियो से दबा कर मुठिये बना ले ,कढ़ाही मै घी गरम करे ,मुठियो को मंद आंच पर सुनहरे होने तक तल  ले। ठंडा होने पर इन्हे मसल कर चूर ले ,चलनी से छान ले।
                                     

कढ़ाही मै  दो छोटे चम्मच घी डाल कर तैयार चूरे को मंद आंच पर पांच मिनट तक सेंक ले। 

ठंडा होने पर इसमे शक्कर बुरा ,इलाचयी पाउडर व् कटे हुवे ड्राई फ्रूट मिलाये ,अच्छी तरह मिक्स करे ,एक छोटा चम्मच घी मिला कर लड्डू बनाये ,अगर लड्डू नहीं बंध रहे है तो थोड़ा थोड़ा घी मिलाते  हुवे लड्डू बना ले। 
इस तरह सारे  लड्डू बना कर एयर टाइट डब्बे मै भर कर रख ले। 

विशेष 

बारीक़ वाली सूजी ही ले ,शक्कर हमेशा ठंडी सूजी मै ही मिलाये ,नहीं तो लड्डू बहुत कड़क हो जायेंगे। 
शुद्ध घी मै बने हुवे लड्डू 15 दिन तक अच्छे रहते है। 

कोई भी confusion  है तो कमेंट बॉक्स मै जा कर कमेंट करे 

No comments:

Post a Comment