Apple Jam

                                 

ब्रेड जैम बच्चो का favorite होता है ,हम बड़े भी अक्सर breakfast मै  ब्रेड या परांठे के साथ खाते  है। बच्चो के लंच बॉक्स मै रखने को अगर और कोई चीज नहीं है तो सबसे आसान है ब्रेड जैम का ऑप्शन।

मार्केट मै कई ब्रांड ,फ्लेवर ,टेस्ट के jam अवेलेबल है।
                               

अगर हम घर पर ही pure ,natural jam फ्रेश फ्रूट्स से बनाये तो एक तो बच्चो को बिलकुल ही शुद्ध और फ्रेश जैम खाने को मिलेगा ,साथ ही economical  भी होगा।
                                     

इन दिनों मार्केट  मै apple  बहुत आ रहे है ,तो मै आपसे apple jam की recipe शेयर कर रही हूँ।

आवश्यक सामग्री 

  • apple    1 kg (5 or 6 )
  • शक्कर   4 कप 
  • दो नीबू का रस 
  • दो कप पानी 

बनाने की विधि 

एप्पल धो कर पोंछ ले, छिलका उतार  कर बारीक़ टुकड़ो मै काट ले। 
   
                                   

एक बर्तन मै पानी गरम करे ,पानी उबलने लगे तब एप्पल के पिसेस उसमे डाल  दे ,ढँक कर दस मिनट उबलने दे ,एक टुकड़ा निकाल कर देखे ,अगर बिलकुल गल  गया है तो गैस बंद कर दे ,एक चलनी मै डाल कर पानी निथार दे। पानी अच्छी तरह निकल जाने के बाद मैश कर ले ,मैश हाथ से या चम्मच से कर ले।

                                               

एक कढ़ाही मै मैश किया हुवा एप्पल और शक्कर मिला कर गैस पर कम  आंच पर रखे,लगातार चलाते  रहे ,जब पानी पूरा सुख जाये ,और किनारो पर न दिखे,तब गैस बंद कर दे।
                                                       

ठंडा होने दे ,बिलकुल ठंडा हो जाये तब इसमे नीबू का रस मिला कर अच्छी तरह मिक्स कर दे। 
कांच के जार मै भर कर रखे। 

तो तैयार है होम मेड माँ के हाथ का बना apple  jam 
                                  

विशेष 

एप्पल रवेदार न ले कर juicy ले इस से  smooth texture आएगा। 

एप्पल छील और काट कर तुरंत ही उबाले ,नहीं तो काले  भूरे हो जायेंगे ,जिससे jam   का कलर भी अच्छा नहीं आएगा। 

आप चाहे तो इस मै मन चाहा फ़ूड कलर मिला सकते है। 

नीबू का रस छान कर ही डालें  . 

इसे फ्रीज मै air tight jar मैं छै महीने तक रख सकते है। 




सूजी के लड़ूँ




सूजी से हम सामान्य तौर पर हलवा बनाते है , जो instant sweet dish है , लेकिन लड्डू हम बहुत दिनों तक स्टोर कर के रख सकते है ,बनाने मै  आसान और टेस्ट मै स्वादिस्ट।

मालवा मै सामान्य तौर पर इन्हे चूरमा लड्डू कहा जाता है जो दाल बाटी या दाल बाफले के साथ बनाये जाते है। कई तरीको से बनाये जाते है,मै  अपनी मम्मी की विधि शेयर कर रही हूँ।

आवश्यक सामग्री 

  • सूजी 1 कप 
  • शक्कर बुरा 1 कप 
  • घी तलने  के लिए व् डालने के लिए 2 कप 
  • इलाचयी पाउडर
  • ड्राई फ्रूट 
  • गरम पानी 1 /4 कप
                                      

बनाने की विधि 

सूजी मै दो छोटे चम्मच घी डाल  कर अच्छी तरह मिक्स कर ले ,गरम पानी से कड़ा गूँथ ले ,आधा घंटे तक गुंथी सूजी को ढक कर रख दे। 

आधे घंटे बाद सूजी के गोले बना कर उँगलियो से दबा कर मुठिये बना ले ,कढ़ाही मै घी गरम करे ,मुठियो को मंद आंच पर सुनहरे होने तक तल  ले। ठंडा होने पर इन्हे मसल कर चूर ले ,चलनी से छान ले।
                                     

कढ़ाही मै  दो छोटे चम्मच घी डाल कर तैयार चूरे को मंद आंच पर पांच मिनट तक सेंक ले। 

ठंडा होने पर इसमे शक्कर बुरा ,इलाचयी पाउडर व् कटे हुवे ड्राई फ्रूट मिलाये ,अच्छी तरह मिक्स करे ,एक छोटा चम्मच घी मिला कर लड्डू बनाये ,अगर लड्डू नहीं बंध रहे है तो थोड़ा थोड़ा घी मिलाते  हुवे लड्डू बना ले। 
इस तरह सारे  लड्डू बना कर एयर टाइट डब्बे मै भर कर रख ले। 

विशेष 

बारीक़ वाली सूजी ही ले ,शक्कर हमेशा ठंडी सूजी मै ही मिलाये ,नहीं तो लड्डू बहुत कड़क हो जायेंगे। 
शुद्ध घी मै बने हुवे लड्डू 15 दिन तक अच्छे रहते है। 

कोई भी confusion  है तो कमेंट बॉक्स मै जा कर कमेंट करे 

वास्तु शास्त्र व् भवन निर्माण

वास्तु शास्त्र व् भवन निर्माण 


बेसन चक्की

                                     

एक सदा बहार मिठाई , जो मुख्य रूप से राजस्थान और मध्य प्रदेश मैं ज़्यादा बनायी जाती है ।
आजकल मावे की मिठाइयों मैं मिलावट का डर रहता है , इसलिए मैं मावे की मिठाइयों से ज़्यादा बेसन चक्की को पसंद करती हू , शुद्ध , बेसन की भीनी ख़ुशबू वाली बेसन चक्की हफ़्ते दस दिन तक ख़राब भी नहीं होती ।

आवश्यक सामग्री 

  • बेसन     दो कप
  • शक्कर   एक कप से थोड़ी कम
  • घी         एक कप
  • पानी
  • इलायची पाउडर एक छोटा चम्मच
  • दूध   आधा कप
  • मलाई  आधा कप 
                                   

बनाने  की विधि 

बेसन मैं दूध डाल कर , ज़रूरत लगे तो थोड़ा पानी डाल कर कड़ा गूँथ ले , इसके मोटे पराँठे बना कर घी डाल कर मंद आँच पर दबाते हुवे सुनहरे होने तक सेंक ले ।
बहुत नरम होते है ये पराँठे , हाथ से ही आसानी से टूट जाएँगे , इन्हें छोटे टुकड़ों मैं तोड़ कर mixi मैं पिस ले , इसको छलनी से छान ले , मोटा दरदरा mixutre तैयार हो जाएगा ।

                                                                 
इस mixture को हल्की आँच पर थोड़ा भूरा होने तक सेंके इसी मैं मलाई मिला दे ।
पोन कप शक्कर मैं आधा कप पानी डाले , गरम करे , लगातार चलाते रहे , ढेढ़ तार की चाशनी बना ले , गैस बंद करे , इस चाशनी मैं बेसन का भूना हुवा मिक्स्चर डाल दे , इसी मैं इलायची पाउडर मिला दे ,अच्छी तरह मिला ले , इसे दस मिनट तक ऐसे ही रखा रहने दे ।
एक प्लेट को घी लगा कर रखे , उस मैं यह मिश्रण डाल दे , प्लेट को थपथपा कर पूरी प्लेट मैं फैला दे , अच्छी तरह सेट होने दे ।चाहे तो नारियल और बादाम से गार्निश कर ले ।
                                        

आधे घंटे बाद , चाकु से मन चाहे शेप मैं काट ले ।
सावधानी से pisces को निकाल कर air tight डब्बे मैं भर कर रख ले ।
तो तैयार है स्वादिस्ट बेसन चक्की

विशेष

बेसन के परांठे न बना कर मुठिया बना कर भी  तल  कर मिक्सी मै  पीस कर दर दरा मिश्रण बनाया जा सकता है | 
शक्कर भुने और पिसे  हुवे मिश्रण की आधी ली जाये तो बिलकुल सही मिठास आती है | 

चाशनी ढ़ेठ तार  की इस तरह देखे की चाशनी की एक बून्द प्लेट मै डाले ,अँगूठे  और ऊँगली के बिच रख कर तार  बना कर देखे तो एक पूरा और एक आधा तार बनेगा 

अगर चाशनी पतली रह जाये और चक्की सेट न हो तो थाली के निचे तीन चारअख़बार रख दे ,एक घंटे बाद आसानी से जम कर कट जाएगी ,अख़बार extra moisture को सोख लेगा