जीरावला पार्श्वनाथ जैन तीर्थ

          
राजस्थान मैं कई प्रसिद्द जैन तीर्थ है , इनमै से एक महत्वपूर्ण जीरावला पार्श्व नाथ है , ये राजस्थान के सिरोही मैं स्थित है , आबू रोड स्टेशन से 42 km की दूरी पर है ।
इतिहास के अनुसार यह स्थान प्राचीन समय मैं जीरपल्लि , जीरावली, जुरीकापल्ली आदि नामो से जाना जाता था ।
चमत्कारी प्रतिमा के साथ कई किवदंतिया जुड़ी हुई है , एक रात कोदिनगर के सेठ अमसरा ने स्वप्न देखा , ठीक उसी रात आचार्य श्री देवसूरिवर जी ने भी स्वप्न मैं जयराज पहाड़ी के नीचे भूगर्भ मैं एक प्रतिमा देखी , स्वप्न का अनुसरण कर उसी जगह पर खुदाई करने पर श्री पार्श्व नाथ की प्रतिमा प्राप्त हुई ।

विक्रम सम्वत 331 मैं मंदिर का निर्माण कर प्रतिमा को प्रतिस्थिठ किया गया । इसके बाद कई बार मंदिर की पुनः प्रस्थिठा की गई ।


इसके अलावा 108 पार्श्व नाथ की प्रतिमाओं को भी स्थापित किया गया ।
विगत वर्ष 2016 मैं भव्य मंदिर का निर्माण कर पुनः प्रतिस्ठा की गई ।

मूल नायक 23 वे तीर्थंकर भगवान श्री पार्श्वनाथ की  18 cm की श्वेत प्रतिमा पद्मासन स्थिति मैं है ।


अन्य प्रतिमाए 108 पार्श्व नाथ की है ।
किसी भी मंदिर की प्रतिस्ठा या अन्य धार्मिक महोत्सव मैं सर्वप्रथम जीरावला पार्श्वनाथ प्रभु को आमंत्रित किया जाता है
अत्यंत शांत व मनोहारी वातावरण मैं जिन पूजा का आनंद अविस्मरणिय है ।
बहुत बड़े प्रांगण मैं धर्मशालाए , भोजनशाला स्थित है ।
E रिक्शा की सुविधा उपलब्ध है ।
राजस्थानी शैली मैं विशाल धर्मशालाए भी एक आकर्षण का केंद्र है ।

आबू पर्वत की तलहटी मैं स्थित ये तीर्थ अत्यंत रमणीय है ।
निकटतम रेल्वे स्टेशन आबू रोड है जो 42 km की दूरी पर है वहाँ से private जीप या बस से यहाँ पँहुचा जा सकता है ।
निकटतम airport उदयपुर है ।
महिला दर्शनारथियो को ओढ़नी लेना अनिवार्य है ।
फ़ोटोग्राफ़ी मंदिर मैं निषेध है लेकिन प्रांगण मैं की जा सकती है । 

मैंगो कैंडी जैली

             
बाज़ार से ख़रीद कर हम सभी ने बहुत फ़्रूट कैंडी खायी होगी , चोकलेट के बजाय फ़्रूट कैंडी ज़्यादा healthy आप्शन है ।
अभी आम का मौसम चल रहा है तो आम की कैंडी बना कर रख ली जाए जो पूरे साल चलती है , और घर मैं बनी होने से hygienic और economical भी होगी ।

आवश्यक सामग्री 

  • आम का रस  1 कप
  • शक्कर        1/2 कप
  • शुद्ध घी        1 tbsp
  • फ़ूड कलर  optional 

बनाने की विधि 

आम को धो कर छिल कर टुकड़े कर के बगेर पानी डाले mixi मैं पिस ले । 
एक कढाही मैं एक चम्मच घी डाल कर शक्कर व आम का पल्प डाल दे , मध्यम आँच पर दस मिनट तक चलाते हुवे पकाए , एक गाढ़ा पेस्ट बन जाएगा ।
एक प्लेट मैं थोड़ा सा घी लगा कर फेला दे उसके ऊपर यह पेस्ट डाल दे ,  पेस्ट की तह एक इंच की रखे , तेज़ धूप मैं तीन दिन रख कर पलट दे , तीन चार दिन फिर तेज़ धूप मैं रख दे । 
अच्छी तरह सूखने पर मनचाहे आकार मैं काट ले । 
Air tight container मैं भर कर रखे । 
खट्टी मीठी मैंगो कैंडी तैयार है । 

विशेष 

अगर आम बहुत मीठे है तो शक्कर कम डाले । 
फ़ूड कलर ऑप्शनल है , केसर आम मैं कलर डालने की ज़रूरत नहीं होती है , क्यों की केसर आम का रस केसरिया होता है , और उसकी कैंडी बहुत अच्छी बनती है ।


ब्रहस्पति का मार्गी भ्रमण

124 दिन के बाद आज 9 जून शाम 7:40 के क़रीब गुरु फिर से मार्गी हो रहे है , 6 february को वक्रि हुवे थे ।
गुरु का मार्गी होने से सभी राशियों पर शुभ प्रभाव दिखाई देगा ।
क्योंकि गुरु एक ही राशि मैं लगभग 13 महीने तक रहते है , इसलिए गुरु का प्रभाव अधिक दिखाई देता है ।
सभी राशियों पर इसका शुभ असर अवश्य दिखाई देगा

मेष राशि 

कार्य क्षेत्र मैं जो भी बाधाए आ रही थी वह अब समाप्त हो जाएगी , रुके कार्यों मैं तेज़ी आएगी , नौकरी पेशा वर्ग को पदोन्नति या स्थान्तरन की सम्भावना रहेगी ।
दांपत्य जीवन मैं आ रही परेशनिया समाप्त होगी 

वृषभ राशि 

इस राशि के जातकों के कार्य क्षेत्र मैं विस्तार होगा , नयी योजना पर अमल होगा , नए अनुबंध होंगे । 
अगर विवाह मैं कोई बाधा आ रही थी तो वह दूर हो जाएगी । 

मिथुन राशि 

लम्बे समय से जो कार्य अटके हुवे थे  वो सारे पूर्ण होने का समय आ गया है । 

रुका हुवा धन प्राप्त होगा , आर्थिक संकट समाप्त होगा । 
सामाजिक व धार्मिक क्षेत्र मैं नाम होगा । 
विधार्थी वर्ग को प्रतियोगी परीक्षाओं मैं सफलता प्राप्त होगी । 

कर्क राशि 

कर्क राशि के जातकों के लिए बेहद भाग्यशाली समय रहेगा । 
भूमि , वाहन ख़रीदने के योग बनेंगे । 
विवाह सूत्र मैं बँध सकते है । 
धार्मिक कार्यों मैं रुचि बढ़ेगी । 
परिवार व समाज मैं सम्मान प्राप्त होगा । 

सिंह राशि 

विदेश यात्रा के योग बनेंगे । 
उच्च शिक्षा के लिए विदेश जा सकते है । 
व्यापारी वर्ग को यात्राओं से लाभ होगा । 
नौकरिपेशा वर्ग को पदोन्नति की सम्भावना रहेगी । 
सरकारी कामों मैं आने वाले विध्न समाप्त होंगे । 

कन्या राशि 

जो भी स्वास्थ सम्बन्धी समस्याए थी वो समाप्त होगी , मानसिक चिंताए भी समाप्त होगी ।
पारिवारिक जीवन मैं आ रही परेशनिया समाप्त होगी । 
धन का संग्रह होगा । 

तुला राशि 

यह परिवर्तन कई शुभ संकेत ले कर आ रहा है , अवसरों को पहचान कर उनका लाभ उठाने का समय है ।
व्यय पर नियंत्रण अवश्य रखे , क़र्ज़ ना ले , अन्यथा चुकाने मैं मुश्किलें आएगी ।
समबंधो पर अधिक ध्यान दे , पारिवारिक जीवन सुखद रहेगा ।

वृस्चिक राशि 

वेभव व ऐश्वर्य मैं व्रद्धि होगी , नया भवन या वाहन ख़रीदने के योग बनेंगे । 
वेवाहिक जीवन मैं मधुरता आएगी । 
संतान प्राप्ति के योग है । 
मानसिक चिंताए समाप्त होगी । 

धनु राशि 

सारी समस्याओं से मुक्ति मिलेगी ।
आर्थिक व मानसिक परेशनियो का अंत होगा , धनागम होगा ।
व्यापार का विस्तार होगा । नया रोज़गार प्राप्त होगा 
धार्मिक कार्यों मैं भाग लेने का अवसर मिलेगा । 

मकर  राशि 

भाग्योदय होगा , कोई नयी व बड़ीं योजना सफल होगी , धन के नए स्त्रोत प्राप्त होंगे ।
दाम्पत्य जीवन मैं चल रही मुश्किलें समाप्त होगी ।
विदेश यात्रा या अन्य यात्राओं पर जाने का अवसर मिलेगा ।

कुम्भ राशि 

परिवर्तन का समय है , व्यापार मैं या समबंधो मैं चला आ रहा अशुभ समय समाप्त होगा , फिर से नयी शुरुवात होगी ।
नौकरिपेशा वर्ग को स्थान परिवर्तन का योग बनेगा ।
विवाह योग्य युवक , युवतियों को शुभ समाचार प्राप्त होंगे । 

मीन  राशि 

स्व राशि स्वामी ही मार्गी होंगे तो विशेष कर विवाह सम्बंधी कार्यों मैं जो विध्न आ रहे थे वो सब समाप्त होंगे , दाम्पत्य जीवन मैं मधुरता आएगी , आर्थिक समस्याए समाप्त होगी ।
पेत्रक संपती प्राप्त होने के योग बनेंगे ।
Picture courtesy, Google 

,

सुरती सेव खमणी


खमणी सूरत गुजरात का एक विषिस्ट व्यंजन है , जो टेस्टी होने के साथ पोष्टिक भी है ।
आम तोर पर इसे breakfast के लिए बनाया और खाया जाता है । 
अगर आप पोहा और उपमा खा कर बोर हो गए तो ख़मणी ज़रूर try करे । 

आवश्यक सामग्री 

  • चना दाल  1कप
  • बारीक सेव 100 gm
  • तेल    3tbsp
  • अदरक   एक इंच बड़ा टुकड़ा 
  • हरी मिर्च   7 
  • लहसून   2 cloves
  • हल्दी  1/2 tsp
  • ज़ीरा 1 tsp
  • हींग एक चुटकी 
  • शक्कर  3tbsp
  • निबु का रस 2tbsp
  • नमक स्वादानुसार 
  • बारीक कटा धनिया 
  • अनार के दाने 

बनाने की विधि 

चना दाल को धो कर तीन घंटे तक भिगो दे , भीगने के बाद अतिरिक्त पानी निकाल दे , और mixi मैं दरदरा पिस ले । 
हरी मिर्च , लहसून , अदरक भी बारीक पिस ले । 
कढाही मैं तेल डाले , अच्छा गरम होने पर हींग व ज़ीरा डाले , इसमै पिसी हुई दाल डाले , मध्यम आँच पर तब तक भूने जब तक की किनारों से तेल अलग ना होने लगे । 
अदरक , मिर्च व लहसून पेस्ट डाले , 3-4 मिनट तक मिक्स करे । 
नमक , शक्कर व निबु का रस मिलाए । 
हरा धनिया व अनार दाने से गार्निश करे । व सर्व करते समय बारीक सेव डाले । 

विशेष 

पिसते समय ध्यान रखे की डाल दरदरी ही रहे , ज़्यादा बारीक पिसने पर अच्छा नहीं बनेगा । 
सेव हमेशा सर्व करते समय ही डाले नहीं तो सेव soggy हो जाएगी ।